विज्ञापन

R BHARAT PLUS NEWS
  • Breaking News

    इंडियाटीम के शेर,इंग्लैंड के आगे ढेर : पावर-प्ले में बेहद धीमी बैटिंग, ; गेंदबाजी बेजान और बेरंग

    टी-20 वर्ल्ड कप से टीम इंडिया बाहर हो गई है दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने भारत को एक तरफा मुकाबले में 10 विकेट से हरा दिया IPL में धूम-धड़ाके वाला खेल दिखाने वाले भारतीय सितारे इस पूरे मैच में सहमे नजर आए चलिए जानते हैं कि वे कौन से 5 फैक्टर रहे, जिन्होंने टीम इंडिया की हार की पटकथा लिखी।

    राहुल फिर बड़े मैच में फ्लॉप

    बड़े मैच और बड़ी टीम के खिलाफ भारतीय ओपनर केएल राहुल का फेल होने का सिलसिला जारी रहा। बांग्लादेश और जिम्बाब्वे के खिलाफ राहुल ने हाफ सेंचुरी जमाई थी। इस मुकाबले में भी उन्होंने पहली गेंद पर चौका जमाया, लेकिन इसका खास फायदा नहीं हुआ। वे 5 गेंद पर 5 रन बनाकर क्रिस वोक्स की गेंद पर जोस बटलर को कैच थमा बैठे।


    टुक-टुक बैटिंग पावर-प्ले में


    इंग्लैंड ने इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बॉलिंग का फैसला किया तब भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने कहा था कि अगर वो टॉस जीतते तो भी पहले बल्लेबाजी ही करते लेकिन मुंहमांगी मुराद पूरी होने के बाद भी भारतीय बल्लेबाजों के रुख से ऐसा लगा कि वे बहुत डरे-सहमे हैं पावर-प्ले के 6 ओवर में भारत ने सिर्फ 1 विकेट गंवाया लेकिन रन सिर्फ 38 बनाए 10 ओवर तक भारत ने सिर्फ 62 रन बनाए थे।

    पावर हिटिंग हार्दिक के अलावा कोई नहीं कर सका 

    भारत को धीमी शुरुआत के बाद आखिरी के ओवर्स में पावर हिटिंग की जरूरत थी हार्दिक पंड्या ने जरूर इसमें कामयाबी हासिल की, लेकिन इस मामले में वो इकलौते साबित हुए इसकी वजह यह है कि उनके अलावा कोई दूसरा बैटर यह कलेजा और कूवत नहीं दिखा सका हार्दिक ने 190 के स्ट्राइक रेट से बैटिंग की लेकिन कम से कम 15 गेंद खेलने वाला कोई भी बल्लेबाज 130 के स्ट्राइक रेट से भी बैटिंग नहीं कर पाया कप्तान रोहित शर्मा ने 96 तो विराट कोहली ने 125 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए सूर्या ने अच्छी शुरुआत की, लेकिन वे 10 गेंद खेलकर ही आउट हो गए ऋषभ पंत भी 4 गेंद पर 6 रन ही बना सके।



    गेंदबाजी में न दिशा न धार दिखी 


    भारत ने इस वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल से पहले अच्छी गेंदबाजी की थी इसकी वजह यह थी कि उन मैचों में तेज गेंदबाजों को अच्छी स्विंग मिल रही थी इस मैच में स्विंग नजर नहीं आई और नतीजतन भारतीय गेंदबाज बिल्कुल बेअसर साबित हो गए भुवनेश्वर और अर्शदीप ही नहीं, शमी भी बेरंग और बेजान नजर आए हमारी बॉलिंग यूनिट इंग्लैंड के बल्लेबाजों का विकेट लेना तो दूर उन्हें परेशान तक नहीं कर पाई।

    तूफानी बल्लेबाजी बटलर-हेल्स की

    169 रन का टारगेट सेमीफाइनल जैसे मुकाबले में चुनौतीपूर्ण हो सकता था, लेकिन इंग्लिश ओपनर्स जोस बटलर और एलेक्स हेल्स ने कोई दबाव नहीं बनने दिया दोनों ने पहले ही ओवर से अटैकिंग बल्लेबाजी की और भारतीय गेंदबाजों को बैकफुट पर धकेल दिया बटलर ने 163 के स्ट्राइक रेट से नाबाद 80 रन और हेल्स ने 182 के स्ट्राइक रेट से नाबाद 86 रन बनाए कितनी हैरत की बात है कि हमारे किसी बॉलर के खाते में एक भी विकेट दर्ज नहीं हो सका इंग्लैंड 10 विकेट से जीत गया।





     
                                                                                                                                                                            



                 
                 

    कोई टिप्पणी नहीं

    this is news site

    Post Bottom Ad

      R BHARAT PLUS NEWS

    विज्ञापन